लुंगलेई, थेंजवाल या चम्पई
चम्पई | भारत | मिजोरम

लुंगलेई, थेंजवाल या चम्पई

रियक से ऐज़वाल  वापसी रियक पीक से लौटने के बाद अब कहाँ जाऊं कुछ समझ नहीं आ रहा। सुमो से वापसी हुई मिलेनियम सेंटर पर। पान की गुमटी लगाए बिहारी बाबू से पूछा तो मालूम पड़ा की दूसरे गांव जाने के लिए वाहन एसबीआई बैंक के पास से मिलेगा जो नीचे है। रियक जाने से…

जान हथेली पर लेके पहुंचा दामचरा
भारत | त्रिपुरा | दामचारा

जान हथेली पर लेके पहुंचा दामचरा

अगरतला से अलविदा कल दिनभर की घुमक्कड़ी जहाँ एक ओर उज्यांता महल और शाम को नीर महल। अगरतला में इतना काफी है मेरे लिए। मगर उत्पल जी चाहते हैं की हम भारत बांग्लादेश सीमा पर बीटिंग रिट्रीट सेरेमनी भी देखें। साथी घुमक्कड़ ने आगे बढ़ने का फैसला कर लिया है। हालांकि उत्पल जी ये भी…

पानी पर बसा भारत का सबसे बड़ा महल
भारत | त्रिपुरा | रुढ़िजला

पानी पर बसा भारत का सबसे बड़ा महल

उज्ज्यांता महल से नीर महल उज्ज्यांता महल में कुछ दो ढाई घंटे का समय बीत गया है। कुछ ही देर में उत्पल जी का फोन आता है और वो हमें बाहर मिलने को बुला रहे हैं। इतनी देर राजभवन में समय बिता कर अनछुए पहलुओं को जानने को मिला। खासतौर पर पूर्वोत्तर क्षेत्र के आदिवासियों…

अगरतला का राजभवन उज्जयंता महल
अगरतला | त्रिपुरा | भारत

अगरतला का राजभवन उज्जयंता महल

कल उनाकोटी से वापसी के बाद देर शाम मुलाकात हुई केरल से आए नाजी महफूज से। जो हमारी ही तरह भारत घूम रहे हैं पर अंदाज थोड़ा निराला है। ये जनाब लिफ्ट ले कर और संस्थानों में काम कर कर के गुजारा करके भारत का चक्कर लगा रहे हैं। उत्पल भाई की आज कुछ और…

उनाकोटी 99 लाख 99 हजार 999 मूर्तियां
भारत | उनाकोटी | त्रिपुरा

उनाकोटी 99 लाख 99 हजार 999 मूर्तियां

आश्चर्य यात्रा परसों रात से कल शाम तक के लगातार सफर ने बुरी तरह थका दिया था। जिस वजह से कल अगरतला पहुचनें के बाद भी कोई प्रमुख जगह जाना ना हो सका सिवाय विभान सभा भवन के। घुमक्कड़ी समुदाय से उत्पल जी ने काफी मदद की अब तक। आज उन्होंने मेरे और साथी घुमक्कड़…

अगरतला पहुंच कर मिला सुकून
अगरतला | त्रिपुरा | भारत

अगरतला पहुंच कर मिला सुकून

शिलॉन्ग वापसी के साथ स्कूटी वापसी भी नॉनग्रायाट, डावकी, चेरापूंजी जैसी जगहों पर अच्छा खासा समय बिताने के बाद अब मेघालय राज्य से अलविदा लेने की तैयारी है। मैं दोनो बैग ले कर पुलिस बाजार में खड़ा हूँ। यहाँ मैं बैग ले कर खड़ा हूँ ऐसी जहाँ यातायात अच्छा खासा है। मेरे डब्बे वाले फोन…

विश्व का एकमात्र डबल डेकर रूट ब्रिज
नॉनग्रियाट | भारत | मेघालय

विश्व का एकमात्र डबल डेकर रूट ब्रिज

टायरना संध्या होने को आई है। घड़ी में पांच बज चुके हैं। और ठीक पांच बजे के बाद यहाँ प्रवेश बंद हो जाता है। पास में बने काउंटर से गाड़ी पार्किंग की पर्ची कटाई। समस्या हेलमेट की आ रही है। सो वो भी रखवा दिया किसी तरह बात चीत करके इन्हीं की दुकान में। यही…

पृथ्वी का सबसे बरसाती शहर
मेघालय | चेरापुंजी | भारत

पृथ्वी का सबसे बरसाती शहर

भारत बांग्लादेश सीमा भारत बांग्लादेश सीमा तक जा कर कुछ देर बीता कर ही अच्छा लगा। वापस जाने लगा तो सीमा पार से सैलानी भी आते दिखे। जो भारतीय चेकपोस्ट पर अपने कागज दिखा कर भारत की सीमा में दाखिल हो रहे हैं। कुछ लोगों का मानना है कि बांग्लादेश से अभी भी घुसबैठ हो…

एशिया का सबसे स्वच्छ गाँव मावलेनोंग
डावकी | भारत | मेघालय

एशिया का सबसे स्वच्छ गाँव मावलेनोंग

डारंग में सुबह आज एशिया के सबसे साफ गांव जाने का विचार है जिसका नाम है मावलेनोंग। ये गांव लगातार एशिया के सबसे स्वच्छ गांव की श्रेणी में शुमार ही रहा है। सुबह के साढ़े छह बज रहे हैं। रात के अंधेरे में तो सिर्फ नदी का शोर ही सुनाई पड़ रहा था पर अभी…

मेघालय सड़क दुर्घटना में बाल बाल बचा
भारत | डारंग | मेघालय

मेघालय सड़क दुर्घटना में बाल बाल बचा

एलिफेंटा से डावकी गांव एलिफेंटा झरना मेहेज घंटे भर के अंदर ही भ्रमण हो गया। खास है तो सिर्फ वो झरना जो भारत के किसी और कोने में ना मिले। वापसी में जिस दुकान में बैग रखे हुए थे वहीं से थोड़ा नाश्ता करना बेहतर लगा। नाश्ता भी इसलिए ही किया क्योंकि दुकानदार ने हमारा…