रिएक पीक ट्रैकिंग
भारत दर्शन | ऐजवाल | ट्रैकिंग और हाईकिंग | मिजोरम

रिएक पीक ट्रैकिंग

ऐजवाल कल त्रिपुरा से मिजोरम की राजधानी ऐजवाल में आ तो गया था, पर न खाने का सुख ना जीने का ठिकाना। ऐसा लग रहा था मानो परदेस चला आया हूँ। बस अड्डे पर रात बिताने के बाद सुबह की दिनचर्या में व्यस्त हो गया। साथी घुमक्कड़ की योजना के अनुसार आज रियक जाएंगे जो…

केदारनाथ में चुकानी पड़ती है कीमत
केदारनाथ | उत्तराखंड | ट्रैकिंग और हाईकिंग | भारत दर्शन

केदारनाथ में चुकानी पड़ती है कीमत

साधना रात के बारह बज रहे हैं। घूम फिर के आया अब सोच रहा हूँ जैसा पंडित जी ने सुझाया वैसा ही के लिया जाए। दर्शन तो संभव नहीं। जूते उतार कर आ गया कपाट के सामने अध्यात्म करने। यहाँ एक माता जी पहले से ही अपने बीमार बेटे को लिए बैठी हैं। जो मंदिर…

कैलाश के सबसे निकट केदारनाथ
उत्तराखंड | केदारनाथ | चारधाम यात्रा | ज्योतिर्लिंग | ट्रैकिंग और हाईकिंग | धार्मिक स्थल | भारत दर्शन

कैलाश के सबसे निकट केदारनाथ

खुसुर फुसुर मेरे तंबू के पास कुछ सुगबुगाहट हो रही है। कोई तो आदमी खड़ा हो कर तंबू के बारे में बात किए जा रहा है। इन्हीं जनाब की आवाज़ सुन कर मेरी निद्रा भंग हुई। साथ ही आसपास में कुछ और लड़कों की भी आवाज़ आ रही है। ये कहाँ से आ रही है…

यमुनोत्री की खड़ी चढाई में पस्त
चारधाम यात्रा | उत्तराखंड | ट्रैकिंग और हाईकिंग | धार्मिक स्थल | भारत दर्शन | यमुनोत्री

यमुनोत्री की खड़ी चढाई में पस्त

सन्नाटे में सुबह कल रात बिरला हाउस में पहले टेंट और फिर बाकायदा कमरे का मिलना वरदान साबित हुआ। खाली कमरे में गद्दे और रजाई पहले से मौजूद थी। जिसे बिछाकर सो गया था। दोनों बड़े बैग बड़ी सी खिड़की के पास की मेज़ के ऊपर ही रख दिए थे। आंख खुल चुकी है। बेहतर…

क्यों ना जाएं शिमला!
शिमला | ट्रैकिंग और हाईकिंग | भारत दर्शन | हिमाचल प्रदेश

क्यों ना जाएं शिमला!

रामपुर रोड सुबह आंख खुली तो देखा अगल बगल की सवारियां जैसे कि तैसे सो रही हैं। कुछ बदला है तो पिछली सीट का नजारा। जहां अब कोई नहीं है। ड्राइवर साहब और कंडक्टर बाबू तो बस से ही नदारद हैं। उन्होंने पक्का अपनी व्यवस्था ढाबे के किसी कोने में तलाश कि होगी। वैसे भी…

हिमाचल का कश्मीर चितकुल
चितकुल | ट्रैकिंग और हाईकिंग | भारत दर्शन | हिमाचल प्रदेश

हिमाचल का कश्मीर चितकुल

भोर भयो कल रात में एक अनिश्चित आश्रय मिलने के बाद चीजें काफी सरल हो गईं थीं। भारी भीषण बारिश में रुकने के प्रबंध ना होने के कारण शायद हालत कितने बत्तर हो जाते इस बात की कल्पना भी नहीं की जा सकती। गरम पानी की जब जरूरत महसूस हुई तो आंटी जी ने गरमा…

ऐतिहासिक 800 साल पुराना कीह मठ
भारत दर्शन | किब्बर | ट्रैकिंग और हाईकिंग | स्पीति वैली | हिमाचल प्रदेश

ऐतिहासिक 800 साल पुराना कीह मठ

एशिया के सबसे बड़े पुल से अलविदा बस तो इन पहाड़ियों में डोलती हुई मस्तानी की तरह चलती जा रही है। पीछे मुड़ के देखा तो छोटा सा चिचम गांव बहुत ही खूबसूरत लग रहा है। बस सड़क पर इतना उछाल मार रही है कि ठीक से एक फोटो भी नहीं आ रहा है। बड़ी…

एशिया का सबसे ऊंचा पुल
स्पीति वैली | चिचम | ट्रैकिंग और हाईकिंग | भारत दर्शन | हिमाचल प्रदेश

एशिया का सबसे ऊंचा पुल

चिचम गांव से निकलने की तैयारी कल रात के जबरदस्त स्वागत के बाद आज वापस निकलने की बारी है। सवेरा हो चुका है। पर पता नहीं कैसे सुबह चार बजे एक बार आंख खुली थी। फिर तब से हल्की हल्की टूटी नींद आ रही है। बिस्तर के बगल में लगी खिड़की से छन कर उजाला…

अनोखी 360° सिरोलसर झील
जलोरी | ट्रैकिंग और हाईकिंग | भारत दर्शन | हिमाचल प्रदेश

अनोखी 360° सिरोलसर झील

निकलने की तैयारी रात को भले ही देरी से सोया लेकिन जल्दी उठने में कोई कसर नहीं छोड़ी। बस पकड़ने के लिए मैं समय पर उठ गया। मोबाइल में समय देखा तो अभी चार बज रहे हैं। हिमाचल में एक दफा बस छूटी तो समझो पूरा दिन बर्बाद। ये तीन चार घंटे की नींद ले…

भाग्सु नाग वाटरफॉल धर्मकोट
हिमाचल प्रदेश | ट्रैकिंग और हाईकिंग | धर्मकोट | भारत दर्शन

भाग्सु नाग वाटरफॉल धर्मकोट

पर्यटन स्थल का चुनाव सुबह सवेरे उठना तो जल्दी ही था लेकिन आंख खुली बहुत ही देर से जो कल रात में देर से सोने का परिणाम है। यहाँ तक कि मुझे जगाने भी प्रयेश ही आया, वरना ना जाने और कितनी देर ही सोता रहता। मौसम आज सुहाना नहीं होगा ये खिली खिली धूप…