ख़ूब लड़ी मर्दानी झाँसी रानी
उत्तर प्रदेश | झाँसी | भारत

ख़ूब लड़ी मर्दानी झाँसी रानी

ग्वालियर से झाँसी कल कुरेरि में सिद्धार्थ के घर रुकने के बजाए ये तय हुआ की रात गुरुद्वारे में ही बिताई जाएगी। सुबह ग्यारह बजे तक पदावली और बटेश्वर मंदिर निकला जाएगा। योजना के विपरीत मनोज जी अपने घर मथुरा के लिए निकल पड़े। उनके निकलने के कुछ ही घंटो में मैं भी प्रस्थान कर…

नंदबाबा का बसेरा
उत्तर प्रदेश | नंदगांव | भारत

नंदबाबा का बसेरा

बरसाना से नंदगांव बरसाना में ऑटो स्टैंड के पास चाय की दुकान पर तय हो गया है की नंदगांव के लिए निकल रहा हूँ। इधर चाय की दुकान के मालिक अपना अलग ही राग अलाप रहे हैं। मूलनिवासी होने के बावजूद कभी ये भाईसाहब नंदगांव नहीं गए। इनके जाने या ना जाने से मेरा नंदगांव…

बरसाने वाले राधे
उत्तर प्रदेश | बरसाना | भारत

बरसाने वाले राधे

वानर ने चुराया चश्मा यौजनानुसार निकल रहा हूँ बरसाना। हालांकि मथुरा और वृंदावन के बाद भरतपुर जाने की योजना थी। पर सोच रहा हूँ बरसाने के इतने निकट होने के बाद भी ना जाऊं तो अपने साथ नाइंसाफी होगी। घर से साढ़े सात बजे तक हर हाल में निकल गया। गलियों में पैदल अट्टाला तक…

श्रीकृष्ण जन्मभूमि मथुरा
उत्तर प्रदेश | धार्मिक स्थल | पवित्र स्थल | भारत | मथुरा

श्रीकृष्ण जन्मभूमि मथुरा

इस्कॉन मंदिर कल दिन में इस्कॉन गौशाला में समय व्यतीत करते हुए जब मालूम पड़ा की इस्कॉन में सुबह का निशुल्क भोजन प्राप्त होता है तो यह तय करना मुश्किल नहीं था की आज सुबह इस्कॉन ही जाना है। स्नान कर निकल पड़ा पैदल गलियों में भोजन की खोज में। यहाँ वृंदावन की गलियों में…

ग्यारह हजार मंदिरों का शहर
उत्तर प्रदेश | भारत | वृंदावन

ग्यारह हजार मंदिरों का शहर

बदली योजना रात में एक दफा नींद खुलने पर देखने लगा की मोबाइल कितने प्रतिशत चार्ज हो गया है। समय हुआ होगा कुछ तीन बजे। मोबाइल पूरा चार्ज हो गया था। निकाल कर अलग रख दिया। पर फिर उसके बाद टुकड़ों में ही नींद आई। सुबह उठकर मथुरा निकलने की तैयारी करने लगा। मालूम पड़ा…

सीकरी महल, जोधाबाई रसोई
उत्तर प्रदेश | फतेहपुर सीकरी | भारत

सीकरी महल, जोधाबाई रसोई

बीरबल महल बुलंद दरवाजा बहुत ही शानदार है। यहाँ से महल कुछ आधा किमी दूरी पर है। कुछ ही घंटे में अंधेरा हो जाएगा। बहुत ही न्यूनतम समय रह गया है महलों को देखने के लिए। निर्भर करेगा की कितने बजे तक महल खुला रहता है। द्वार पर आने के बाद यहाँ बैनर पर लगे…

विश्व का सबसे ऊँचा दरवाज़ा
उत्तर प्रदेश | फतेहपुर सीकरी | भारत

विश्व का सबसे ऊँचा दरवाज़ा

सिकंदरा से सीकरी सिकंदरा से निकल कर करीब चार से पांच मोटर गाड़ी के जरिए फतेहपुर सीकरी आ गया। इसमें सबसे चुनौतीपूर्ण रहा आगरा से बाहर निकलना। फिर दो वाहन ऐसे मिले जिसके जरिए मैं आधी आधी दूरी तय करने में कामयाब रहा। इसमें पहले वाले में सफर करने के बाद समोसे की दुकान पर…

अकबर के द्वारा निर्मित स्वयं का मकबरा
उत्तर प्रदेश | भारत | सिकंदरा

अकबर के द्वारा निर्मित स्वयं का मकबरा

साथ चलने की योजना रद्द आज फतेहपुर सीकरी निकलना है। वहां के सामुदायिक मित्र के निमंत्रण पर आज की रात उन्हीं के घर पर रुकूंगा। पर अभी सिराज और डेविड दोनो ही घोड़े बेंच कर सो रहे हैं। कल रात तक ये दोनो प्रयागराज निकल रहे थे। गुरुद्वारा जाने के बाद टुंडला जाने का साधन…

गुरुद्वारा गुरु का ताल
आगरा | उत्तर प्रदेश | भारत

गुरुद्वारा गुरु का ताल

सुबह परीक्षा लिखने के बाद मैं वापसी में ऑटो से उतर कर गुरुद्वारे पर आ गया। सोच रहा हूँ की घर पर जा कर भोजन के बाद दोबारा यहाँ आऊं। लिफ्ट मांगते हुए घर पहुंच गया। बाहर ही मुझे सिराज और डेविड मिल गए। जिन्होंने अपने आगे की योजना बनाई। ये दोनो भी अभी गुरुद्वारे…

ताज का दीदार
आगरा | उत्तर प्रदेश | भारत

ताज का दीदार

समय से स्टेशन पहुंचना सुबह सात बजकर पैंतीस मिनट पर ट्रेन रवाना होगी। अलार्म बजने से उठा बंद कर फिर सो गया। दोबारा बजने से पहले ही उठ खड़ा हुआ। अलार्म बजा जिसकी उम्मीद थी की कुछ देर बाद बजेगा पर अभी बज गया। बंद कर तैयारी शुरू करने लगा। दो घंटे पहले उठना सही…