हज़ार स्तम्भ मंदिर और वारंगल किला
आंध्रप्रदेश & तेलंगाना | भारत दर्शन | वारंगल

हज़ार स्तम्भ मंदिर और वारंगल किला

भेदभाव थकान और रात भर चली आंख मिचोली में नींद पूरी न हो सकी।  सरकारी काम वाली बाई के जगाने पर नींद टूटी। घड़ी में सुबह के छह बज रहे हैं। एहसाह हुआ पर्यटन के लिए निकलना भी है। फर्श पर से अपनी अंग्रेजी चटाई एयर स्लीपिंग बैग उठाकर बेंच पर रख दी। रात भर…

अमरावती की उंडावली गुफाएं
अमरावती | आंध्रप्रदेश & तेलंगाना | भारत दर्शन

अमरावती की उंडावली गुफाएं

घर से निकलते ही रात की मौज मस्ती कारण ना बन सकी देर से उठने की। सुबह जल्दी उठ गया। अमरावती में उंडावली गुफाएं बहुत प्रसिद्ध हैं। जहाँ मैं जाना चाहूँगा। शहर का विभाजन कृष्णा नदी के ऊपर आधारित है। नदी के पूर्वी उत्तर भाग विजयवाड़ा कहलाता है। दक्षिण भाग अमरावती। विपुल मुझसे पहले ही…

आंध्र की नई राजधानी विजयवाड़ा
आंध्रप्रदेश & तेलंगाना | भारत दर्शन | विजयवाड़ा

आंध्र की नई राजधानी विजयवाड़ा

इंतज़ार और सही  विशाखापट्टनम से निकलने का वक़्त आ चुका है। रात्रि यही सोच कर सोया था की सुबह जल्दी उठ कर सात बजे से पहले प्रवीण जी से मुलाकात हो जाएगी। नींद में ही जीने के दरवाजे की खटकने को आवाज से समझ गया की किसी ने रात को लगाई हुई कुण्डी खोल दी…

विशाखापट्टनम में झलक भारतीय नौसेना की शक्ति की
आंध्रप्रदेश & तेलंगाना | भारत दर्शन | विशाखापट्टनम

विशाखापट्टनम में झलक भारतीय नौसेना की शक्ति की

समय का सदुपयोग अनुराग जी ने मुझे जगाने का बीड़ा उठाया। घड़ी में समय देखा तो सुबह के आठ बज रहे हैं। कल वादे के मुताबिक अनुराग जी नौसेना कैंप ले जाने के लिए कल ही दो पास निकलवा लिए थे। आज की योजना बताते हुए अनुराग ने बताया की हम इक्कठे बारह बजे तक…

पहाड़ियों को गले लगाती लहरों की भूमि विशाखापत्तनम
आंध्रप्रदेश & तेलंगाना | भारत दर्शन | विशाखापट्टनम

पहाड़ियों को गले लगाती लहरों की भूमि विशाखापत्तनम

आनंदा  हाइट्स हर्षा पेशे एक मैकेनिकल इंजीनियर है। जानी मानी कंपनी में कार्यरत हैं। एक एक कर उनके सभी मित्र कार्यालय के लिए निकल रहे हैं। टू बीएचके फ्लैट में रह रहे हर्षा के साथ उनके तीन मित्र और हैं जो यहाँ निवास करते हैं। रात्रि में दो अलग अलग कमरों में मैं और साथी…